बटलर कमेटी (हरकोर्ट बटलर समिति -1927) के उद्देश्य।

बटलर कमेटी के उद्देश्य और सिफारिशें।


Sir Harcourt Butlerबटलर समिति (1927 ई.) : सन् 1927 में भारतीय राज्य समिति ने सर हरकोर्ट बटलर की अध्यक्षता में एक समिति नियुक्त की जिसे रियासतों के राजकुमारों की सर्वोच्च शक्तियों और उनके बीच के संबंधों की जांच और  स्पष्टीकरण के लिए 'बटलर कमेटी' के रूप में जाना जाता था। इस समिति ने भारत के 16 राज्यों का दौरा व विशलेषण किया और सन् 1929 में अपनी यह रिपोर्ट दी।

इस समिति की अनुशंसाएं नीचे दी गई हैं।

  • परमसत्ता तथा राज्यों के बीच के सम्बन्ध सिर्फ समझौता नहीं बल्कि जीवित और वृद्धिशील सम्बन्ध हैं, जिनका निर्धारण परिस्थितियों और नीतियों के तहत हुआ है और जिसमे इतिहास और सिद्धांत भी शामिल है।
  • ब्रिटिश परमसत्ता रियासतों की रक्षा करती है।
  • राज्य का स्थानांतरण स्वयं उनके समझौते के बिना भारतीय विधायिका के प्रति उत्तरदायी ब्रिटिश भारत की नयी सरकार को नहीं करना चाहिए।

निष्कर्ष : इस समिति के गठन का उद्देश्य परमसत्ता और राजाओं के बीच के संबंधों से जुड़े मुद्दों की जाँच करना था। इसका काम राजाओं के मध्य के संबंधों की बेहतरी के लिए सुझाव देना था, ताकि ब्रिटिश भारत और देसी राजाओं (भारतीय रियासतों) के बीच संतोषजनक संबंधों की स्थापना की जा सके।


data-matched-content-ui-type="image_card_stacked"

Go to Monthly Archive