12वीं बोर्ड परीक्षा के बाद आईएएस की तैयारी कैसे करें?

जानिए कब से शुरू कर देना चाहिए सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी।

Importance of the Right Books to Study for UPSC

आईएएस परीक्षा में बैठने के लिए आवश्यक न्यूनतम शैक्षिक योग्यता स्नातक है। प्रत्येक वर्ष यूपीएससी द्वारा आयोजित आईएएस परीक्षा देने के लिए आपको एक मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से डिग्री प्राप्त करनी होगी।

तो क्या इसका मतलब है कि आप स्नातक होने के बाद ही आईएएस परीक्षा की तैयारी करना करते हैं?

बिलकुल नहीं! यदि आपने अभी अपनी स्कूली शिक्षा पूरी की है, और आईएएस / आईपीएस अधिकारी बनने और देश की सेवा करने की आपकी महत्वाकांक्षा निश्चित है तो हमारी सलाह है कि, अभी अपनी आईएएस तैयारी शुरू करें! जब तक आपकी आयु 21 वर्ष की हो या आप डिग्री प्राप्त न कर लें तब तक प्रतीक्षा न करें।

यदि आप अपनी आईएएस तैयारी अभी शुरू करते हैं, तो आप आईएएस परीक्षा को पास करने और अपने सिविल सेवा कैरियर को शुरू करने के इस मौके का बेहतर तरीके से उपयोग करते हैं। यह रणनीति आपको अपने करियर में एक लंबा सफर तय करने में मदद करेगी और आप निश्चित रूप से कैबिनेट सचिव (जो कि देश में आईएएस का सबसे बड़ा पद है) बन सकते हैं।

प्रिय अभ्यर्थियों, हम इस लेख के माध्यम से आपको 12 वीं पास के बाद यूपीएससी के लिए तैयार शुरू करने के बारे में कुछ सुझाव देने जा रहे हैं। आशा है की हमारे द्वारा बताई गई युक्तियों से आप सभी को इस परीक्षा की तैयारी प्रारम्भ करने में सहायता मिलेगी।

कक्षा 12 के बाद आईएएस परीक्षा की तैयारी करने के लिए आपको क्या करना चाहिए?

12th के बाद यूपीएससी की तैयारी:

  • सिविल सेवा परीक्षा प्रक्रिया के बारे में विस्तार व गंभीरता पढ़ें।
  • व्यक्तिगत अवधारणा व व्यक्तित्व विकास के लिए एक सिविल सेवक या राजनयिक के जीवन के बारे में जानें।
  • यदि संभव हो, तो किसी आईएएस अधिकारी से बात करें और उनसे मूलभूत व जमीन से जुडी वास्तविकताओं के बारे में जानें।
  • खुद से पूछें कि आप वास्तव में क्या चाहते हैं? यदि आपका उत्तर 'हां' है, तो पढ़ें और आगे बढ़ते जाएं।

शुरुआत के लिए अपने स्नातक के विषय के पाठ्यक्रम को समझें जिसमें इतिहास और राजनीति शामिल हो। क्योंकि ये विषय यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा के पाठ्यक्रम में विशेष महत्व रखते हैं। अपने स्नातक स्तर के दौरान इन विषयों का अध्ययन यूपीएससी पाठ्यक्रम को ध्यान में रखते हुए अच्छी तरह से करें।

यदि आप इन विषयों में निपुणता का स्तर प्राप्त करेंगे, तो आप उन विषयों में से एक को अपने वैकल्पिक विषय के रूप में भी चुन सकते हैं। साथ ही, लोक प्रशासन, अर्थशास्त्र इत्यादि पढ़ना शुरू करें। आप अपनी रुचियों और योग्यता के आधार पर इन विषयों को अपने मुख्य विषय के रूप में भी पढ़ सकते हैं।

स्कूल में सीखे गए गणित के मूल ज्ञान के साथ संपर्क न खोएं। आईएएस प्रीलिम्स में सी-सैट (CSAT) पेपर के लिए इसकी आवश्यकता पड़ती है। आईएएस परीक्षा पैटर्न के बारे में और पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

कॉलेज जाने वाले अभ्यर्थियों के लिए ध्यान देने योग्य कुछ महत्वपूर्ण बातें।

  • एक आईएएस उम्मीदवार की तरह अध्ययन करने की आदत का निर्माण करें न कि कॉलेज के छात्र की तरह।
  • अपनी कॉलेज लाइब्रेरी का भरपूर उपयोग करें। जितनी संभव हो उतनी प्रासंगिक किताबें पढ़ें और नोट्स बनाएं।
  • दैनिक समाचार पत्र पढ़ने की आदत पैदा करें और उसका विकास करें, देश और दुनिया में नवीनतम घटनाओं के बारे में स्वयं को अपडेट रखें।
  • अपने पारस्परिक कौशल और संचार कौशल की स्किल पर काम करें और उसका भी विकास करें।
  • एक अच्छा व्यक्तित्व विकसित करने का प्रयास करें क्योंकि बाद में यह विकास आईएएस साक्षात्कार में आपकी मदद करेगा।
  • अपने स्कूल की या एनसीईआरटी पाठ्यपुस्तकों को फेंक न दें। ध्यान रहे कि यूपीएससी परीक्षा के लिए अध्ययन करने के लिए ये मूल पुस्तकें हैं।

यदि आपने एनसीईआरटी पाठ्यपुस्तकों का अध्ययन नहीं किया है, तो आप उन्हें मुफ्त में डाउनलोड कर सकते हैं। निःशुल्क पुस्तकें डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें।

data-matched-content-ui-type="image_card_stacked"

Go to Monthly Archive