प्रारंभिक परीक्षा : सामान्य अध्ययन (पर्यावरण एवं पारिस्थितिकी) - एककोशिकीय जीव, Bacteria बैक्टीरिया, एवं Monera

सामान्य विज्ञान (General Science)
पर्यावरण एवं पारिस्थितिकी (Environment and Ecology)

एककोशिकीय जीव, बैक्टीरिया, एवं Monera

MONERA

एककोशिकीय जीव


प्रोकैरियोट्स - Prokaryotic Cell की विशेषताएं eg. of Monera

BACTERIA ->

CYANOBACTERIA (Blue Green Algae) ->

इसमें कुछ ऐसे Bacteria होते है जिनमे cell wall होता है लेकिन cellulose से बना नहीं होता है। ये Prokaryotic होते है ChlorophyII नहीं होता है इसलिए इसे Plant kingdom में नहीं डालते है

MYCOPLASM (इसमें Cell Wall नहीं होता है।)

 

  • Monera में कोशिका का विभाजन Amitosis (असमसूत्री) विभाजन के द्वारा होता है। ie , Karyokinesis नहीं होता है (सीधा एक Cell से दो)
  • Monera में Chromation पदार्थ के साथ Plasmid भी होते है जो एक प्रकार का double stranded circular DNA होता है। Plasmid में Histone Protein नहीं होता है।

 

 

Bacteria प्रतिकूल प्राकृतिक दशाओ के होने पर अपनी कोशिका के चारों तरफ एक मोटी परत के रूप में Spore का संश्लेषण कर वातावरण के साथ समायोजन करने का प्रयास करते है। Spore के संश्लेषण के कारण इनकी संख्या में वृद्धि नहीं होती है लेकिन यह अपने अस्तित्व को बनाये रखने में सक्षम हो जाते है।

बैक्टीरिया के Shape अलग-अलग प्रकार के होते है जो समूह में रहते है लेकिन प्रत्येक कोशिका रूपी बैक्टीरिया सभी कार्यो को करते है अथार्त इनके समूह में कार्यो का विभाजन नहीं होता है।

इस प्रकार बैक्टीरिया नाइट्रोजन चक्र की प्रक्रिया को संतुलित करने के साथ मृदा की उर्वरता में वृद्धि कर जैव उर्वरक का भी कार्य करते है।

Bt (Bacillus Thruingenisis)


इस बैक्टीरिया के Crygene के द्वारा Protaxin प्रोटीन का संश्लेषण होते है। इस प्रोटीन के कारण ही कीटों के आँत (Intestine ) में आयनिक असंतुलन होने पर कीट मरने लगते है। इसलिये मिट्टी में उपस्थित इस प्रकार के बैक्टीरिया जैव कीटनाशक का कार्य करते है। Recombinant DNA तकनीक के द्वारा इस बैक्टीरिया के Cry Gene का प्रत्यारोपण (Transplantat ) करके फसलों की प्रजाति में करके Bt प्रजाति के आनुवंशिक संशोधित फसलों का उत्पादन किया जा रहा है।

2. Industry में:

  • Lactose को (Milk Sugar)- Lactobacillus- बैक्टीरिया - Latic Acid में परिवर्तित हो जाता है।
  • C2H5O5 को (Ethyl Alcohol)- Acetobacter- बैक्टीरिया- Acetic Acid में परिवर्तित करता है जिससे Vinegar (सिरका) बनता है।
  • Cheese का – Curing- (बैक्टीरिया के द्वारा भोजन के नष्ट होने से बचाने का एक तकनीक है।)
  • Acetic Acid को Clostridium- बैक्टीरिया- Kentone/Alcohol

3. Retting of Fibers:

  • रेशे को शुद्ध करने / साफ करने की प्रक्रिया को Retting कहते है। Clostridium बैक्टीरिया इस कार्य के लिए उपयोगी होता है।

4. Pharmaceutics Industry:

  • औषधी उद्दोग में Bacteria का उपयोग
  • Anti Biotics बनाने के लिए किया जाता है।
  • Serum के द्वारा Anti toxin का Synthesis संश्लेषण किया जाता है। इसके लिए सामान्यत: Horse या Rabbit के Blood में जहरीले पदार्थ को डालकर Anti toxin के संश्लेषण की प्रक्रिया को उत्तेजित किया जाता है जिसका उपयोग बाद में औषधिया दवा के रूप में किया जाता है।
  • Vaccines - बैक्टीरिया की सहायता से Antibodies का संश्लेषण कर Vaccines का उत्पादन किया जाता है। Vaccination के द्वारा शरीर को संक्रमण से बचाया जाता है 


data-matched-content-ui-type="image_card_stacked"

Go to Monthly Archive