यूपीएससी मुख्य परीक्षा के लिए मॉक टेस्ट सीरीज क्यों लेना चाहिए?

आईएएस मेन एग्जाम में मॉक टेस्ट का क्या महत्व है।


IAS Main Exam Test Series

यूपीएससी सिविल सर्विसेज परीक्षा की तैयारी अन्य प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं जैसे एसएससी (SSC) , कैट (CAT) या पीएससी (PCS) आदि की तरह नहीं है। इस परीक्षा को पास करने के लिए सिर्फ ज्ञान एकत्र करना पर्याप्त नहीं है, इसके लिये आपको परीक्षा के पैटर्न के बारे में पता होना चाहिए और उस ज्ञान का उपयोग कैसे किया जाय ये पता होना चाहिए।

मॉक टेस्ट सीरीज या प्रश्नपत्रों से अभ्यास एक बहुमूल्य कदम  है, जो आपकी तैयारी में आपको वास्तविक यूपीएससी परीक्षा में अच्छा प्रदर्शन करनें और आपकी तैयारी में आवश्यक बदलावों इत्यादि को समझने के लिए आवश्यक है। इस प्रकार के अभ्यास से अभ्यर्थी वास्तविक परीक्षा में एक अच्छा स्कोर प्राप्त कर सकते हैं। इस प्रकार के टेस्ट या परीक्षण वास्तविक प्रश्नपत्रों को निर्धारित समय में और कुशलता पूर्वक हल करने में आपकी मदद करते हैं। यहां हम आपको कुछ युक्तियां बताएंगे और यह क्यों आवश्यक है

परीक्षा से आतंकित  न हों।


ऐसे बहुत से उम्मीदवार हैं जो अविश्वसनीय प्रतिभाशाली और ज्ञानी हैं लेकिन फिर भी वे यूपीएससी परीक्षा में सफलता प्राप्त करने में विफल रहे हैं और इसका प्रमुख कारण सही मार्गदर्शन और अभ्यास की कमी है। एक वास्तविक परीक्षा जैसे पर्यावरण में परीक्षण व अभ्यास करने से आपके भीतर वास्तविक परीक्षा के समय आमतौर पर होने वाली आशंकाओं और भय इत्यादि दूर हो जाते हैं, और आपके आत्मविश्वास में वृद्धि होती है।

ध्यान रहे कि इन प्रैक्टिस पेपर्स में असली परीक्षा की तरह नकारात्मक अंकन के साथ अभ्यास करने से आपको 'क्या चुनना है' और 'क्या छोड़ना है' यह समझना सरल हो जाता है। अभ्यास आपकी सफलता में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है क्योंकि हम पुनरावृत्ति के द्वारा किसी भी विषय को सर्वोत्तम तरीके से सीख सकते हैं। नकली परीक्षण में अच्छी स्कोरिंग आपके भीतर उपलब्धि की भावना उत्पन्न करता है जिससे आपके आत्मविश्वास का स्तर बढ़ेगा। इसके साथ ही आपकी अवधारणाएं स्पष्ट हो जाएंगी और आपकी क्षमताओं में आपका विश्वास पैदा होगा।

पैटर्न की समझ के साथ तेजी से सीखना।


अधिकांश लोग दबाव में होने पर अपना सबसे अच्छा प्रदर्शन करते हैं, मानव के इस गुण का श्रेय उनके मूलभूत अस्तित्व की प्रवृत्ति को दिया जा सकता है। यह आपको तेजी से सीखने और अवधारणाओं को बेहतर ढंग से अवशोषित करने में मदद करता है। इसके अलावा आप अपनी गलतियों से भी बहुत कुछ सीखते रहते हैं। गुणवत्ता वाले नकली परीक्षण के अभ्यास से आपको यूपीएससी पैटर्न को बेहतर तरीके से जानने में सहायता मिलेगी। क्योंकि जब आपको परीक्षा पैटर्न की बेहतर समझ होगी तो आपको आपकी वास्तविक स्थिति भी पता चल जाएगी कि आपकी तैयारी का क्या स्तर है।

उच्च अंक प्राप्त करने के लिए।


सभी यूपीएससी टॉपर्स प्रैक्टिस मॉक टेस्ट या टेस्ट सीरीज के महत्व पर सहमत हैंम क्योंकि इनका अभ्यास आपको परीक्षा में आने वाले अप्रत्याशित प्रश्नों को समझने और उन्हें हल करने की क्षमता का विकास करता है। एक सबसे महत्वपूर्ण बात यह भी है कि मॉक टेस्ट से आपको समय प्रबंधन और परीक्षा के समय के दबाव से निपटने में मदद मिलती है। ये आपको वास्तविक परीक्षा देने के दौरान संभवत: हो सकने वाली गलतियों का एहसास करने में भी सहायता करते हैं। प्रारंभ में आप अपनी गलतियों से सीख सकते हैं किन्तु वास्तविक परीक्षा में उन्हें दोहरा नहीं सकते हैं।

असफलता या उच्च अंक प्राप्त न कर पाने का एक प्रमुख कारण यह भी हो सकता है कि अभ्यर्थी परीक्षा के समय पर्याप्त रूप से सतर्क नहीं है या परीक्षा के सम्य उसका मस्तिष्क लगातार दो घंटों के लिए उपयोग करने में सक्षम नहीं होता पाता है। इस क्षमता को विकसित करने की आवश्यकता है कि आप लंबी अवधि के लिए अध्ययन करने का अभ्यास करें और ध्यान रहे कि यह यह एक मैराथन है, इसलिए तदनुसार तैयारी करें।

नकली परीक्षण के परिणामों को वास्तविक परीक्षा के लिये पूर्ण संकेतक के रूप न लें और अपने नकली परीक्षणों में कम स्कोर से हतोत्साहित न हों। सही मार्गदर्शन और उचित अध्ययन सामग्री से अध्ययन करें और आत्मविश्वास बनाये रखें।


अन्य उपयोगी लेख


data-matched-content-ui-type="image_stacked"