प्रारंभिक परीक्षा : सामान्य अध्ययन (पर्यावरण एवं पारिस्थितिकी) - Plantae, शैवाल, स्टोमाटा, वाष्पोतसर्जन

सामान्य विज्ञान (General Science)
पर्यावरण एवं पारिस्थितिकी (Environment and Ecology)

Plantae, शैवाल, स्टोमाटा, वाष्पोतसर्जन

Plantae


PLANTAE 

 

ALGAE

PLANT TISSUE


MERISTEMATIC TISSUE


PERMANENT TISSUE


Meristematic tissue की कोशिकाऎं विशेषीकृत नहीं होती हैं। इनमें लंबे समय तक विभाजन करने की क्षमता होती है। इन्हीं कोशिकाओं के विभाजन से की वृद्धि व विकास होता है।


Meristematic tissue की कोशिकाऎं जब विशेषीकृत हो जाती हैं तो वे Permanent tissue में परिवर्तित हो जाती हैं। Permanent tissue की कोशिकाओं में सामान्यत: विभाजन की क्रिया नही होती।

http://www.iasplanner.com/civilservices/images/Plant-tissue-root-tip.jpg

http://www.iasplanner.com/civilservices/images/permanent-tissue.jpg

http://www.iasplanner.com/civilservices/images/simple-permanent-tissue.jpg

1. Stomatal Transpiration


 

http://www.iasplanner.com/civilservices/images/Transpiration-stomata.jpg

2. Cuticle Transpiration


पत्तियों की उपर की परत या बाह्य परत अथार्त Epidermis को Cuticle कहते है। जब Epidermis की परत मोटी होती है तब Cuticle में Pores (छिद्र) अव्यंत ही छोटे हो जाते है इसलिए Cuticle की परत की मोटाई कम होने पर इसके Pores के द्वारा Cuticle Transpiration के कारण जल का वाष्प के रूप में निष्काषण होता है।

3. Lenticular Transpiration


http://www.iasplanner.com/civilservices/images/lenticular-transpiration.jpg

वनस्पति की शाखाओ की बाहरी परत में Lenticles होते है; इनके छिद्रो के द्वारा जब जल का वाष्प के रूप में निष्काषण होता है तब इस प्रक्रिया को Lenticular Transpiration कहते है जिसका दर Stomatal Transpiration से कम लेकिन Cuticle Transpirat से अधिक होता है

पर्णपाती वन में शुष्क ऋतु के समय जब वृक्ष की पत्तियां गिर जाती है तब Lenticular Transpiration के द्वारा ही जल का वाष्प के रूप में निष्कासन होता है


 

वाष्पोतसर्जन के प्रभाव के कारण


Stomata Open

CO2 का विसरण पत्तियों की कोशिकाओं में होता है जिसके कारण ही प्रकाश संश्लेषण एवं वाष्पोतसर्जन एक दूसरे को प्रभावित करते है।

 


वाष्पोतसर्जन के कारण पत्तियों से ऊष्मा का जलवाष्प के द्वारा निष्कासन होता है जिससे पत्तियों के तापमान में कमी आती है।

 


वाष्पोतसर्जन के कारण न केवल वायुमण्डलीय आर्द्रता में वृद्धि होती है बल्कि वायु के तापमान के साथ वर्षा की मात्रा में भी वृद्धि होती है। इस प्रकार वाष्पोतसर्जन के कारण न केवल मौसम में परिवर्तन बल्कि जल चक्र की प्रक्रिया भी संतुलित होती है।


Guttation


http://www.iasplanner.com/civilservices/images/guttation.jpg

पत्तियों के Hydathodes के द्वारा जल का बूंदो के रूप में निष्कासन होता है इस प्रक्रिया को Gutation कहते है जो सामान्यतः रात के समय होती है। इस प्रक्रिया में जल के साथ घुले हुए तत्व भी बहार निकलते है। जब यह प्रक्रिया अधिक हो जाता है तब उसे Bleeding कहते है।


data-matched-content-ui-type="image_card_stacked"

Go to Monthly Archive