UPSC IAS Main 2017 - Essay (Compulsory) Exam Paper

http://iasplanner.com/e-learning/images/upsc-banner.jpg

UPSC IAS Main Essay (Compulsory) Paper - 2017

 संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा निबंध  पेपर - 2017


  • Topics:  Essays

  • Exam Name: UPSC Civil Services Main Essay (Compulsory) Exam

  • Exam Year: 2017

SECTION  ‘A’


1  भारत में अधिकतर कृषकों के लिए कृषि जीवन - निर्वाह का एक सक्षम स्रोत नहीं रही है |
Farming has lost the ability to be a source of substance for majority of farmers in India.

2  भारत में संघ और राज्यों के बीच राजकोषीय संबधो पर नए आर्थिक उपायों का प्रभाव |
Impact of the new economic measures on fiscal ties between the union and states in India.

3  राष्ट्र के भाग्य का स्वरुप - निर्माण उसकी कक्षाओं में होताहै
Destiny of a nation is shaped in its classrooms

4  क्या गुटनिरपेक्ष - आंदोलन (नाम) एक बहुध्रुवी विश्व में अपनी प्रासंगिकता को खो बैठा है
Has the Non – Alignment Movement  (NAM)  lost its relevance in a multipolar world? 

SECTION  ‘B’


5  हर्ष कृतज्ञता का सरलतम रूप है |
Joy is the simplest form of gratitude.

6  भारत में नए युग की नारी की परिपूर्णता एक मिथक है |
Fulfilment  of ‘new woman’ in India is a myth.

7  हम मानवीय नियमों का तो साहसपूर्वक सामना कर सकते है, परन्तु प्राकर्तिक नियमों का प्रतिरोध नहीं कर सकते है |
We may brave human laws but cannot resist natural laws.

8 सोशल मीडिया अंतनिर्हित रूप से एक स्वार्थपरायण माध्यम है |
Social media is inherently a selfish medium.


Report Error!