यूपीएससी: आईएएस सामान्य अध्ययन सिलेबस (परीक्षा पाठ्यक्रम)

भारतीय प्रशासनिक सेवा
(यूपीएससी आईएएस सिलेबस)

http://iasplanner.com/e-learning/images/upsc-banner.jpg

सामान्य अध्ययन प्रारंभिक परीक्षा (Prelims Exam)


विषयों की सूची:

प्रश्नपत्र- I (200 अंक)

  • राष्ट्रीय और अंतर्रराष्ट्रीय महत्व की सामयिक घटनाएं.
  • भारत का इतिहास और भारतीय राष्ट्रीय आन्दोलन.
  • भारत एवं विश्व भूगोल – भारत एवं विश्व का प्राकृतिक, सामाजिक, आर्थिक भूगोल
  • भारतीय राज्यतन्त्र और शासन – संविधान, राजनैतिक प्रणाली, पंचायती राज, लोक नीति, अधिकारों संबंधी मुद्दे, आदि।
  • आर्थिक और सामाजिक विकास – सतत वकास, गरीबी, समावेशन, जनसांख्यिकी, सामाजिक क्षेत्र में की गई पहल आदि।
  • पर्यावरणीय पारिस्थितिकी जैव-विविधता और मौसम परिवर्तन संबंधी सामान्य मुद्दे, जिनके लिए विषयगत विशेषज्ञता आवश्यक नहीं है।
  • एवं सामान्य विज्ञान

परीक्षा का पैटर्न व पाठ्य विवरण : Detailed Syllabus

प्रश्नपत्र- II (200 अंक)

  • बोधगम्यता
  • संचार कौशल सहित अंतर – वैयक्तिक कौशल
  • तार्किक कौशल एवं विश्लेषणात्मक क्षमता
  • निर्णय लेना और समस्या समाधान
  • सामान्य मानसिक योग्यता
  • आधारभूत गणना (संख्याएं और उनके संबंध, विस्तार क्रम आदि) (दसवीं कक्षा का स्तर), आंकड़ों का विश्लेषण (चार्ट, ग्राफ, तालिका, आंकड़ों की पर्याप्तता आदि - दसवीं कक्षा का स्तर)
  • अंग्रेजी भाषा में बोधगम्यता कौशल (दसवीं कक्षा का स्तर)

नोट: १०वीं कक्षा स्तर के अंग्रेजी भाषा में बोधगम्यता कौशल के प्रश्नों का परीक्षण, प्रश्नपत्र में केवल अंग्रेजी भाषा के माध्यम से, हिंदी अनुवाद उपलब्ध कराए बिना किया जाएगा। प्रश्नपत्र के सभी प्रश्न बहुविकल्पीय, वस्तुनिष्ठ प्रकार के होंगे तथा मूल्यांकन के प्रयोजन से यह अनिवार्य है कि उम्मीदवार प्रारंभिक परीक्षा के दोनों पेपरों में सम्मिलित हो। यदि आप सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा के दोनों पेपरों में सम्मिलित नहीं होंगे तो आपको अयोग्य घोषित कर दिया जाएगा।

सामान्य अध्ययन मुख्य परीक्षा (Mains Exam)


संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित कराए जाने वाली सिविल सेवा मुख्य परीक्षा के लिए वर्ष 2013 में जारी कर दी गयी थी जिसके अन्तर्गत परीक्षा के पैटर्न में कुछ बदलाव हुये थे। इस नई  परीक्षा प्रणाली  में मुख्य परीक्षा के लिये कुल 1750 अंक निर्धारित कर दिये गये हैं, इससे पहले इसके लिये कुल 2000 अंक निर्धारित थे। इन परिवर्तनों को हम निम्नलिखित तालिका के अंर्तगत देख सकते है:

आईएएस मुख्य परीक्षा के पैटर्न में कुल सात पेपर है:


क्वालीफाइंग पेपर्स (इन प्रश्नपत्रों के अंक अंतिम परिणाम में नही जोड़े जाएंगे।)


पेपर (A)संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल भारतीय भाषाओं में से कोई एक भाषा उम्मीदवारों द्वारा चुनी जानी चाहिये। कुल 300 अंक
पेपर (B) अंग्रेजी कॉम्प्रिहेंशन एवं सार लेखन (10वीं के लेवल का) कुल 300 अंक

रंकिंग पेपर्स (इन प्रश्नपत्रों के अंक अंतिम परिणाम में जोड़े जाएंगे।)


प्रथम प्रश्न पत्र निबन्ध का पेपर : कुल 250 अंक
दूसरा प्रश्न पत्र सामान्य अध्ययन पेपर - १ (भारतीय संस्कृति एवं विरासत,विश्व एवं समाज का इतिहास और भूगोल) : कुल 250 अंक
तीसरा प्रश्न पत्र सामान्य अध्ययन पेपर - २ (शासन,संविधान,राज्य-व्यवस्था,सामाजिक न्याय एवं अंतर्राष्ट्रीय सम्बन्ध) : कुल 250 अंक
चौथा प्रश्न पत्र सामान्य अध्ययन पेपर - ३ (प्रौद्यौगिकी,आर्थिक विकास, जैव-विविधता, पर्यावरण, सुरक्षा एवं आपदा प्रबंधन) : कुल 250 अंक
पांचवां प्रश्न पत्र सामान्य अध्ययन पेपर - ४ (नीति, अखंडता एवं अभिक्षमता) : कुल 250 अंक
छठा प्रश्न पत्र वैकल्पिक विषय (पेपर - १) : कुल 250 अंक
सातवां प्रश्न पत्र वैकल्पिक विषय (पेपर - २) : कुल 250 अंक
मुख्य परीक्षा में वैकल्पिक प्रश्न पत्रों के लिए, यूपीएससी पाठ्यक्रम के अंतर्गत लगभग 26 विषयों की एक सूची है जिसमें से किसी एक विषय को उम्मीदवार द्वारा चुना जाना है।
लिखित मुख्य परीक्षा के लिये निर्धारित कुल अंक : 1750
साक्षात्कार / व्यक्तित्व परीक्षण के लिये कुल अंक: 275
कुल योग : 2025

नये परिवर्तन के अनुसार अब अभ्यर्थी वैकल्पिक विषय के रूप में केवल एक ही विषय  का चुनाव कर सकते है, जबकि पूर्व पैटर्न के हिसाब से इसमें दो वैकल्पिक विषय हुआ करते थे। किसी साहित्य के वैकल्पिक विषय के रूप में चुनाव हेतु, उपयुक्त विषय का स्नातक में मुख्य विषय के रूप में अध्ययन अनिवार्य किया गया है, अन्यथा किसी साहित्य का वैकल्पिक विषय के रूप में चुनाव संभव नही होगा । इस नये सिविल सेवा मुख्य परीक्षा पैटर्न के अंतर्गत "भाषा माध्यम" के संदर्भ में भी बदलाव किये गये है।

data-matched-content-ui-type="image_card_stacked"

Go to Monthly Archive