यूपीएससी आईएएस (मेन) 2017 - दर्शनशास्त्र (वैकल्पिक विषय) प्रश्न पत्र - 2

http://iasplanner.com/e-learning/images/upsc-banner.jpg

संघ लोक सेवा आयोग : सिविल सेवा मुख्य परीक्षा दर्शनशास्त्र (द्वितीय प्रश्नपत्र )


  • Marks: 250

  • Time Allowed: 3 Hours

  • Exam Name: UPSC Civil Services Main Philosophy Optional Exam

  • Exam Year: 2017

प्रश्न पत्र (खण्ड A)


प्रश्न संख्या - 1.

(a) अराजकता के सन्दर्भ में चर्चा कीजिए कि व्यक्ति कि स्वतंत्रता राज्य कि संप्रभुता के सांगत है अथवा नहीं. (10 अंक)
(b) चर्चा कीजिए के क्या नागरिकों और राज्य के लिए शाशन को बेहतर बनाने हेतु, राजतन्त्र का लोकतंत्र के साथ संम्मिश्रण कर देना, उनकी अवांछनीय त्रुटियां से बचने के लिए, कल्पनीय है (10 अंक)
(c) क्या जाती भेदभाव समाज के विशेषाधिकार प्राप्त वर्ग कि या धार्मिक अनुष्ठानो की श्रेष्ठता मनोग्रंथि का नतीजा है? डॉ. बी. आर. अम्बेडकर द्वारा प्रतिपादित विचारों के सन्दर्भ में चर्चा कीजिए (10 अंक)
(d) अधिकारों और कर्तव्यों में से कौन दुसरे का प्राथमिक है? जवाबदेही के सन्दर्भ में विवेचना कीजिए (10 अंक)
(e) लोकतांत्रिक समता और समता की मार्क्सवादी धारणा के बीच मौलिक भिन्नता के विभिन्न पक्षों पर चर्चा कीजिए (10 अंक)

प्रश्न संख्या - 2.

(a) क्या आप इस बात से सहमत है कि पाश्चात्य आदर्श के रूप में धर्मनिरपेक्षता भारत के सन्दर्भ में अनावश्यक है? बहु-सांस्कृतिक भारतीय समाज के सन्दर्भ में इस पर चर्चा कीजिए (20 अंक)
(b) समलोचनापूर्वक मूल्यांकन कीजिए कि क्या सामाजिक प्रगति का आदर्श अपने कर्तव्योँ पर व्यक्ति कि स्वतंत्रता को गौड़ महत्व देता है (15 अंक)
(c) चर्चा कीजिए के के संप्रभुता कि कौटिल्य कि संकल्पना स्वेच्छाचारी शासन में परिवर्तित हो जाती है| बोडिन की संकल्पना से यह किस हद तक तुलनीय है? विवेचना कीजिए (15 अंक)

प्रश्न संख्या - 3.

(a) क्या सामाजिक न्याय के संरक्षण के नाम पर मार्क्सवाद व्यक्तिगत स्वतंत्रता को प्रतिबन्धित करता है? विवेचना कीजिए (20 अंक)
(b) बलात्कार, हत्या और भृष्टाचार जैसे अपराधों के लिए क्या आप मृत्युदण्ड को उचित सिद्ध कर सकते है? विवेचना कीजिए (15 अंक)
(c) क्या महिलाओं का सशक्तिकरण भूमि, संपत्ति और विवाह-विच्छेद के लिए उनके समान अधिकारों का एक पर्याप्त साधन है? धार्मिक संस्वीकृतियों के सन्दर्भ में विवेचना कीजिए (15 अंक)

प्रश्न संख्या - 4.

(a) आर्थिक एवं राजनीतिक आदर्शों पर आधारित सामाजिक प्रगति की संकल्पना के विरुद्ध नैतिक सिद्धान्तों में निहित सामाजिक विकास की संकल्पना का मूल्यांकन कीजिए (20 अंक)
(b) भारतीय लोकतंत्र में न्याय की संकल्पना पर मार्क्स, गाँधी और अमर्त्य सेन किस हद तक सहमत या असहमत है? विवेचना कीजिए (15 अंक)
(c) क्या महिलाओं के विरुद्ध अपराधों के लिए कठोर दण्ड समाज की मानसिकता को बदल देगा? अपने पक्ष के औचित्य को प्रमाणित कीजिए (15 अंक)

प्रश्न पत्र (खण्ड B)


(a) क्या प्रतिबद्ध धार्मिक व्यक्ति सामाजिक नैतिकता के विरुद्ध आचरण करता है? नैतिक द्रष्टी से विवेचना कीजिए (10 अंक)
(b) आप अनिष्ट के अ-धर्मशास्त्रीय संप्रत्यय को किस प्रकार परिभाषित करते है? व्याख्या कीजिए (10 अंक)
(c) क्या धर्म के लिए ईश्वर का होना आवश्यक है? अपने उत्तर के पक्ष में तर्क दीजिये (10 अंक)
(d) चर्चा कीजिए कि क्या आत्मा के अमरत्व का सिद्धांत धर्म के लिए अपरिहार्य है (10 अंक)
(e) दर्शन कि योग प्रणाली में मनुष्य के ईश्वर के साथ संबंध पर समालोचनात्मक चर्चा कीजिए (10 अंक)

प्रश्न संख्या - 6.

(a) क्या जीवन के प्रति धर्मशास्त्रीय और गैर-धर्मशास्त्रीय दृष्टिकोणों में मोक्ष की संकल्पना में कोई मौलिक भेद है? चर्चा कीजिए (20 अंक)
(b) क्या धर्म परम सत्य की गारंटी प्रदान करता है? धार्मिक बहुलवाद के सन्दर्भ में विवेचना कीजिए (15 अंक)
(c) ईश्वर के अस्तित्व के लिए सृष्टि-कारण युक्ति के विभिन्न रूपों के बीच समानता और वैषम्य दिखाइए (15 अंक)

प्रश्न संख्या - 7.

(a) क्या सदृश्यों की भाषा अधिक सम्भ्राँतिकारी और प्रतीकों की भाषा अधिक अबुद्धिगम्य नहीं होती है? धार्मिक भाषा के मामले में इसका मूल्यांकन कीजिए (20 अंक)
(B) सामाजिक रीतियों की गैर-धर्मशास्त्रीय प्रणाली में परम नैतिक मूल्यों का प्राधिकार और स्वीकृति क्या होगी? चर्चा कीजिए (15 अंक)
(c) चर्चा कीजिए कि क्या आस्था कि स्वैच्छिकतावादी थियोरियाँ पर्याप्त है (15 अंक)

प्रश्न संख्या - 8.

(a) क्या शाश्वत मने जाने वाले धार्मिक आदर्शों, सिद्धांतों और रीतियों, आदि के बारे में कोई धार्मिक व्यक्ति लचीला द्रष्टीकोण अपना सकता है? क्या यह धर्म को प्रगतिशील बनाएगा या उसके प्राधिकार को ध्वस्त कर देगा? समीक्षात्मक विवेचना कीजिए (20 अंक)

(b) ईश्वर कि गैर-धर्मशास्त्रीय संकल्पना क्या है? वह ईश्वर की धर्मशास्त्रीय संकल्पना से कैसे भिन्न है? तर्क सहित विवेचना कीजिए (15 अंक)
(c) धार्मिक अनुभूतियों की अभिव्यक्तियों को संप्रेषणीय बनाने के लिए किस प्रकार की भाषा की संरचना करने और उपयोग करने की आवश्यकता है? व्याख्या कीजिए (15 अंक)


Report Error!