सिविल सेवा परीक्षा: पुस्तकों और अध्ययन सामग्री के चुनाव का महत्व

यूपीएससी आईएएस परीक्षा के लिए अध्ययन सामग्री व पुस्तकों का महत्व।

Importance of the Right Books to Study for UPSC

यदि आप एक सिविल सेवा में सफलता पाने की उम्मीद रखते हैं, तो सबसे पहले यूपीएससी परीक्षाओं के लिए आवश्यक पुस्तकों और अन्य अध्ययन सामग्री की सूची बना लें। ध्यान रखें कि यह कोई आसान काम नहीं है क्योंकि प्रत्येक विषय के लिए बाजार में अनगिनत किताबें उपलब्ध हैं, जो सिविल सेवा परीक्षा में सफलता का वादा करती हैं। आपको अपनी अवश्यकता और संदर्भ के अधार पर किताबों और अध्ययन के स्रोतों की सूची बनानी होगी क्योंकि आप इस परीक्षा के लिये उपलब्ध सभी पुस्तकों का अध्ययन नही कर सकते हैं। इससे पैसे की बर्बादी के अलावा, आप सभी को पढ़ने में सक्षम न होनें पर निराश भी हो सकते हैं। पुस्तकों और अध्ययन सामग्री को चुनने से इस परिदृश्य से बचें बुद्धिमानी से चुनाव करें।

पुस्तकों और अध्ययन सामग्री को समझदारी से क्यों चुनें?

यूपीएससी सिविल सर्विसेस परीक्षा को पास करने के लिए लगभग एक वर्ष या उससे अधिक के समय की आवश्यकता होती है। इससे यह पता चलता है कि समय यहाँ एक अनमोल संसाधन है और गलत प्रकार से पुस्तकों का चयन केवल आपको गलत जानकारी ही नहीं दे सकता है बल्कि आपका कीमती समय भी बर्बाद कर सकता है।

इस प्रकार आप आईएएस परीक्षाओं के लिये उपयोगी जानकारी प्राप्त नहीं कर पाते जिससे परीक्षा में आवश्यक ज्ञान का अभाव आपकी असफलता का कारण बन जाता हैं। गलत तरीके से पढ़ना और सीखना आपके आईएएस बनने के सपने के लिये घातक हो सकता है, आपकी सिविल सेवाओं में सफलता पाने की आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए आपकी अध्ययन सामग्री ही आपकी सफलता की कुंजी इसलिए इसे समझदारी से लें और भ्रमित करने वाले अध्ययन सामग्री और संसाधनों से बचें।

सामग्री का चयन कैसे करें?

हालांकि यह सभी जानते हैं कि सिविल सेवा परीक्षाओं की तैयारी के लिए एनसीईआरटी पाठ्य पुस्तकों और समाचार पत्रों का अध्ययन करना अनिवार्य है लेकिन विभिन्न विषयों के लिए पुस्तकों को चुनते समय प्राय: उम्मीदवार नुकसान उठा बैठते हैं, जैसे कि अध्ययन सामग्री का अद्यतन (अपडेटेड - UPDATED) संस्करण प्राप्त न हो पाना। क्योंकि वर्तमान मामलों का इस परीक्षा में विशेष महत्व है और साथ ही, पिछले वर्षों में यह देखा गया है यूपीएससी के पारंपरिक विषयों के सवालों में मौजूदा मामलों का विलय देखनें को मिलता है।

इसलिए, यह महत्वपूर्ण है कि आप नवीनतम पुस्तकें और पत्रिकाओं से पढ़ें और अपडेट रहें। वर्तमान मामलों के लिए, यह सलाह दी जाती है कि आप ऑनलाइन स्रोतों से उसे पढ़ें, क्योंकि वे अधिक गतिशील हैं और इसके माध्यम से दैनिक आधार पर अपडेट प्राप्त किए जा सकते हैं। हालांकि, किताबों की सूची और अध्ययन करने के लिये बहुत सारे स्रोत हैं, लेकिन एक उम्मीदवार को वही पढ़ना चाहिए जिसकी उसे आवश्यकता है। ध्यान रखें कि जब तक आप किसी विषय या मुद्दे का अध्ययन पूरी तरह से समाप्त न कर लें किसी दूसरे स्रोत या विषय को प्रारंभ न करें।

किसी विषय या अध्ययन के स्रोत का संक्षिप्त विवरण प्राप्त करने के लिए पुस्तक या लेख के महत्वपूर्ण भागों को ध्यानपूर्वक समझें। इससे पहले कि आप विस्तृत रूप से पढ़ना शुरू करें सबसे पहले लेख या पुस्तक के केंद्रीय विचारों को समझने का प्रयास करें उससे आपको उसकी उपयोगिता समझ में आ जाएगी। उस पुस्तक का परिचय पढ़ें और उसमे दी गयी सामग्री की विषय तालिका देखें और पुस्तक या आलेख के विचार पाने के लिए विषय का शीर्षक और उपशीर्षक का अध्ययन करें। उसके बाद अपने लिए एक अध्ययन की समय सारिणी बनाएं और लक्षित समय में चुने हुए विषय से सभी अध्यायों को पूरा करें।


data-matched-content-ui-type="image_card_stacked"

Go to Monthly Archive