Registrations Now Open!


Subscribe For  IAS Planner Membership

Enter your e-mail address in the Box given below and press Subscribe button to join.

X
+ Need Help! Click Here!

साक्षात्कार के माध्यम से चयन  के संबंध में पूछे जाने वाले प्रश्न तथा उत्तर

http://www.iasplanner.com/civilservices/images/interview.pngसाक्षात्कार बोर्ड द्वारा उम्मीदवारों का मूल्यांकन किस प्रकार किया जाता है?

  • साक्षात्कार का उद्देँश्य उम्मीदवार को जिस पद पर साक्षात्कार के लिये बुलाया गया है उसके संबंध में उसकी व्यक्तिगत उपयुक्तता का मूल्यांकन करना है। इसका उद्देँश्य उम्मीदवार के बारे में उचित तथा निष्पक्ष मूल्यांकन के माध्यम से यथासंभव अधिकतम क्षमताओं का पता लगाना है और उसके समग्र निष्पादन के आधार पर अंक प्रदान करना है।

  • साक्षात्कार केवल ज्ञान का परीक्षण नहीं है (सामान्य या विषय संबंधी ) बिल्क किसी व्यक्ति के सामर्थ्य के मूल्यांकन का प्रयास है जिससे उम्मीदवार को सक्षम, निष्ठावान तथा ईमानदार अधिकारी बनाया जा सके जिस पर लोक सेवा से जुड़े महत्वपूर्ण कार्य और दायित्वों के निर्वाह का भरोसा किया जा सके ।

साक्षात्कार में अंक किस मापदंड के आधार पर दिए जाते हैं?

  • उम्मीदवारों का ऑकलन पूणर्त: उनके रिकार्ड के आधार पर ( शैक्षिक योग्यताएं, ज्ञान, अनुभव, रूचियों / क्रियाकलापों आदि) तथा साक्षात्कार में उनके निष्पादन के आधार पर किया जाता है। तथापि 0-100 के स्केल में समग्रता में अंक प्रदान किए जाते हैं ; किसी भी वैयक्तिक विशेषता के लिए अलग से कोई अंक नहीं प्रदान किए जाते हैं।

साक्षात्कार बोर्ड का गठन कौन करता है, और क्या बोर्ड का अध्यक्ष तथा सलाहकार उम्मीदवारों को अलग-अलग अंक देते हैं?

  • साक्षात्कार बोर्ड का प्रधान एक अध्यक्ष होता है जिसकी सहायता के लिए कम से कम तीन सलाहकार होते हैं जो अपने से संबंधित क्षेत्रों / विषयों में विशेषज्ञ होते हैं। बोर्ड के अध्यक्ष तथा सलाहकार उम्मीदवारों को सहमित के आधार पर  अंक देते हैं।

संघ लोक सेवा आयोग द्वारा अनुशंसित उम्मीदवारों की विरिष्ठता किस प्रकार निर्धारित की जाती है?

  • संघ लोक सेवा आयोग केवल वरिष्ठता के क्रम में चयिनत उम्मीदवारों की अनुशंसा करता है।

महत्वपूर्ण जानकारी

  • विश्वविद्यालयों, पाठ्यक्रमों तथा डिग्रियों को मान्यता देना संघ लोक सेवा आयोग के क्षेत्राधिकार में नहीं आता है यह मानव संसाधन विकास मंत्रालय, संबंधित मंण्डलीय, वि०वि०.अनु० आयोग तथा ए०आई०सी०टी०ई० के अंतर्गत आता है तथा इस संबंध में अन्य पूछताछ इन एजेंसियों से की जानी चाहिए।
  • एक बार जमा किए गए आवेदन पत्र को अंतिम माना जाता है और उनमें कोई परिवर्तन नहीं किया जा सकता ।