सिविल सेवा मुख्य परीक्षा में साहित्य वैकल्पिक विषय के लिए उत्तर कैसे लिखें?

http://iasplanner.com/e-learning/images/upsc-banner.jpg

साहित्य वैकल्पिक विषय के लिए उत्तर लेखन रणनीति।


भाषा का साहित्य वैकल्पिक विषयों में से एक है, जिसे उम्मीदवार यूपीएससी सिविल सर्विसेस मेन्स परीक्षा में ले सकते हैं। हालांकि, कई लोग अपने वैकल्पिक विषय के रूप में साहित्य नहीं लेते हैं और सार्वजनिक प्रशासन और भूगोल जैसे 'सुरक्षित' और 'स्कोरिंग' विकल्पों के लिए विकल्प चुनते हैं। लेकिन भाषा प्रेमियों के लिए, साहित्य एक उत्कृष्ट पसंद है यह दिलचस्प है, कम कठिन और यहां तक ​​कि स्कोरिंग भी हो सकता है। आईएएस परीक्षा के साहित्य प्रश्न पत्रों के लिए हम इस आलेख द्वारा आपको कुछ महत्वपूर्ण लेखन विधियों के बारे में सुझाव देंगें।

साहित्य वैकल्पिक पत्रों के लिए उत्तर लिखने के लिए प्रयोग होने वाली युक्तियाँ:

संगतता: जवाबों में निरंतरता होना चाहिए आपकी लेखन शैली, लिखावट और फ़ॉन्ट भिन्न नहीं होना चाहिए एकरूपता दृश्य सौंदर्य सुनिश्चित करता है  अगर आप प्रश्न पत्र में किसी भी तरह की काटपीट करने से बच नहीं पते तो उन्हें न्यूनतम रखने का प्रयास करिए।

लिखावट: सुनिश्चित करें कि आपके पास एक साफ और सुपाठ्य लिखावट है। यदि आपको लगता है कि आपकी लिखावट अच्छी नहीं है, तो इस उम्र में भी इसे सुधारना संभव है। सही प्रयास और अभ्यास के साथ, आप एक अच्छी लिखावट विकसित कर सकते हैं। परीक्षा में एक अच्छी लिखावट के महत्व को कम मत समझिये, एक परीक्षक चाहता है कि प्रत्येक जवाबों को पढ़ने के लिए उसे अपनी आँखों पर दबाव न डालना पड़े। आपने कोई सही जवाब भी लिखा हो सकता है, लेकिन अगर यह पढ़ा नहीं जा सकता तो यह बेकार होगा।

लिखावट सुधारने के लिए युक्तियां


Literatureसंदर्भ: भाषा के कागजात में आप उत्तर में लेखकों, विचारकों, दार्शनिकों और कवियों के प्रासंगिक संदर्भ को बनाएं रखें। यह भाषा में आपकी शिक्षा को दर्शाता है और यह प्रश्न पत्र मे अच्छे अंक अर्जित करने का भी एक प्रभावी तरीका है। याद रहे कि भाषा कोई बाधा नहीं है, आप सभी भाषाओं में कवियों के कथनों का संदर्भ भी बना सकते हैं। उदाहरण के लिए, अंग्रेजी अखबार में, आप हिंदी, तमिल, संस्कृत, आदि के प्रसिद्ध लेखकों के अनुवाद का उद्धरण कर सकते हैं परन्तु यह प्रासंगिक और सुंदर होना चाहिए।

रचनात्मकता: यदि आप कर सकते हैं, तो अपने खुद की कविताओं और छंदों का निर्माण करें। एक भाषा के प्रश्न पत्र में यह आपके उत्तर को प्रस्तुत करता है, न कि परीक्षार्थी को प्रभावित करता है। लेकिन याद रखें, आप जो लिखते हैं वह प्रभावकारी और गहरा होना चाहिए।

मौलिकता: अपने उत्तर में स्वयं के विचारों और रायों को रखें न कि अन्य लोगों की।

शब्दों के दुरुपयोग से बचाव: उत्तर पुस्तिका को अनुपयुक्त शब्दों की गणना से भरने की मनसिकता से बचें यह कतई न करें, केवल उपयुक्त शब्दों को लिखें शब्दों के लिए वाक्यांशों को स्थानांतरित करने के बारे में जानें। इसके लिए आपको एक व्यापक शब्दावली विकसित करनी चाहिए जिससे आप एक संतुलित और उपयुक्त उत्तर लिख सकें।

सवालों के उत्तर कैसे दें: आपको पता होना चाहिए कि जवाब में क्या शामिल करना है और क्या नहीं। आपको प्रश्न का वही उत्तर देना चाहिए, जो लिखा और पूंछा गया हो, न कि जो आप जानते हैं

शब्दों की सीमा: आप अपनी शब्दावली को अधिकतम शब्द सीमा का पालन करते हुये रखें और उत्तर की शब्द सीमा को बहुत न्यूनतम भी न रखें। याद रहे, एक छोटा और अपूर्ण उत्तर  आपके जवाबों में विचारों की कमी को दर्शा सकता है। आपको अंग्रेजी में 'स्माईलीज़ (simile)', 'एलीट्रेशन (alliteration)' और हिन्दी / संस्कृत में 'अलंकार' आदि जैसी भाषाओं से कुछ तकनीकी शब्दावली का उपयोग करना चाहिए। यह आपके तकनीकी समझ को दिखाता है, लेकिन इसका प्रयोग अत्यधिक नहीं करना चाहिये।

प्रश्न के उत्तर को लिखने से पहले हमेशा पढ़ें, सोचें और यह सुनिश्चित करें कि आपके उत्तर में क्या आवश्यक वस्तु होनी चाहिये हैं या नहीं। इसके अतिरिक्त, इस प्रक्रिया से आपकी उत्तर पुस्तिका में होने वाली कटौती इत्यादि की संभावनाओं को भी कम करता है।


अन्य उपयोगी लेख


data-matched-content-ui-type="image_card_stacked"

Go to Monthly Archive